VASTU TIPS: थाली में कियूं नहीं परोसी जाती एक साथ 3 रोटियां, यह है वजह!

VASTU TIPS: हिंदू शास्त्रों में व्रत-त्योहार से लेकर रोजमर्रा से जुड़ी कई बातें बताई गई हैं। इनमें खाने-पीने, सोने-जागने से जुड़े नियम बताए गए हैं। इनमें से अक्सर आप सुनते आएं होंगे कि थाली में कभी भी 3 रोटियां नहीं रखनी चाहिए।

ये नियम सदियों से चले आ रहे हैं और परंपरा का हिस्‍सा बन गए हैं. लिहाजा कई लोग इन परंपराओं का पालन जरूर कर रहे हैं लेकिन उनके पीछे के कारणों से वे अनजान हैं. तो आज इसी कड़ी में बात करेंगे कि थाली में 3 रोटियां रखने का धार्मिक कारण क्या हैं.

3 अंक को माना गया है अशुभ

धार्मिक मान्यताओं और शास्त्रों के अनुसार त्रिदेव यानी ब्रह्मा, विष्णु और महेश ने ही इस सृष्टि का सृजन किया है. उन्‍हें सृष्टि का रचयिता, पालनहार और संहारक बताया गया है. इस लिहाज से देखें तो 3 अंक शुभ होना चाहिए लेकिन असल में इसका उल्‍टा है. पूजा पाठ या किसी भी शुभ काम के लिहाज से 3 अंक को अशुभ माना जाता है. इसलिए खाने की थाली में भी एक साथ 3 रोटियां नहीं रखीं जाती हैं. Also Read: IRCTC Tour Package: मात्र 7 हजार रुपये में 4 दिन का टूर, तिरुपति बालाजी के दर्शन का मौका!

Amazon Gold Box Low price offer

मृत्यु से जुड़ा है कारण

इसके अलावा खास मान्यता यह भी है कि जब किसी की मृत्यु हो जाती है, तब उसके त्रयोदशी संस्‍कार से पहले मृतक के नाम से जो भोजन की थाली लगाई जाती है, उसमें 3 रोटियां रखी जाती हैं. इसलिए थाली में 3 रोटी रखने को मृतक का भोजन माना जाता है और इसलिए थाली में एकसाथ 3 तीन रोटियां रखने की मनाही की गई हैं. Also Read: VASTU TIPS: अपने जीवन साथी की हथेली देख जान सकते है यह गुप्त राज़, इस बनावट में छुपे है अनोखे रहश्य!

इसके अलावा यह भी कहा जाता है कि यदि कोई व्यक्ति थाली में एक साथ 3 रोटी रखकर भोजन करता है तो उसके मन में दूसरों से लड़ाई-झगड़ा करने का भाव आता है. साथ ही घर- परिवार में कलह पैदा होती हैं. Also Read: Vastu Tips: गलती से भी बाथरूम में न करे यह, देखते ही देखते हो जाएंगे कंगाल!

Leave a Comment